blog

Nikola Tesla Biography जानिए महान साइंटिस्ट निकोला टेस्ला के बारे में

nikola-tesla . www.todaythinking.com
Written by Himanshu sonkar

दोस्तों दुनिया में कई महान वैज्ञानिक हुए जिन्होंने कई ऐसे वस्तुओं का आविष्कार किया जिनके बिना आधुनिक जीवन जी पाना नामुमकिन है। उन्हीं वैज्ञानिकों में एक ऐसे महान विज्ञानिक हुए जिन्होंने दुनिया को रोशनी से भर दिया।

दोस्तों आप उस जीवन की कल्पना करो जो 150 साल पहले के लोग जीते थे। सूरज ढलने के बाद चारों तरफ अंधेरा छा जाता था और दुनिया उसी में सिमट जाती थी।लालटेन से ही थोड़ी बहुत रोशनी की जाती थी तथा लोग रात में मशाल का उपयोग करते थे और दूसरे दिन सूरज निकलने का इंतजार करते थे क्योंकि रोशनी के बिना कोई भी कार्य बहुत ही मुश्किल था।परंतु कुछ वक्त के बाहर एक महान वैज्ञानिक का जन्म हुआ जिनका नाम Nikola Tesla था।

Nikola Tesla  का जन्म

Nikola Tesla  का जन्म 10 July 1856 को आधी रात को smiljan नामक गांव में हुआ जो यूरोप के देश के croatia में है Nikola Tesla के पिता का नाम Milutin Tesla था उनके पिता smiljan नामक गांव में चर्च में काम करते थे Nikola Tesla के माता का नाम Đuka Tesla था Nikola Tesla की माता तो पढ़ी लिखी नहीं थी लेकिन वह एक असाधारण महिला थी क्योंकि जब उन्हें वक्त मिलता था तो वह तरह-तरह के Homecraft Tool बनाया करते थे कुल मिलाकर टेस्ला की माता एक innovative महिला थी .

अपनी मां को घर के तरह तरह के उपकारणों को बनाते देखकर Nikola Tesla को Electronic inventions की प्रेरणा मिली। टेस्ला बचपन से ही कई तरह के Experiment करते थे। वह बचपन से ही कड़ी मेहनत करते थे। Nikola Tesla  सन 1873 College graduate हो गए लेकिन Nikola Tesla और आगे पढ़ना चाहते थे .

कुछ समय बाद Nikola Tesla को एक बीमारी हो गई बीमारी के चलते Nikola Tesla कई महीनों तक बिस्तर में पड़े रहे और Nikola Tesla के आगे की पढ़ाई वहीं पर बंद हो गई थी यह देख करNikola Tesla के पिता बोले अगर तुम ठीक हो जाते हो तो तुम्हें एक अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला दिलवा दूंगा अपने पिता के बातों को सुनकर निकोला Nikola Tesla के अंदर पढ़ने का जुनून इतना बढ़ चुका था कि वह कुछ ही महीनों में पूरे तरीके से ठीक हो गए.

Nikola Tesla  की पढ़ाई

1875 को उनके पिताजी ने उनका ऐडमिशन ऑस्ट्रेलिया के Polytechnic College में करवा दिया टेस्ला ने Electricity के Michael Faraday के Electromagnetic Induction के बारे में गहराई से अध्ययन किया और फिर उन्होंने उनके सिद्धांत में कुछ सुधार किए जब टेस्ला ने अपने प्रोफेसर से Alternating current कि बात की तो मैं उन पर हंस पड़े 17 अप्रैल 1879 को टेस्ला के पिता का देहांत हो गया कुछ महीने बाद Nikola Tesla  हंगरी की राजधानी Budapest चले गए .

Nikola Tesla  के आगे के कार्य

1882 में टेस्ला हंगरी की राजधानी Budapest चले गए वहां उन्होंने टेलीग्राफ कंपनी में काम किया Nikola Tesla ने वहां जाकर टेलीफोन रिपीटर और एंपलीफायर को सही तरीके से काम करने लायक बनाया टेस्ला के कार्य को देख कर वहां के इंजीनियरों ने उन्हें बड़े जगह पर काम करने के लिए भेज दिया .

टेस्ला ने वहां जाकर इलेक्ट्रिक पैदा करने वाले डायनेमो बनाया थॉमस अल्वा एडिसन की कंपनी डायरेक्ट करंट पर काम करती थी और वह डीसी करंट से दुनिया में क्रांति लाना चाहते थे लेकिन डीसी करंट से जुड़ी हुई कुछ समस्याएं थी जैसे कि वह बल्ब जलाने के लिए तो ठीक था लेकिन वह मशीनों को चलाने के लिए पर्याप्त बिजली नहीं पैदा कर पाता था अमेरिका में थॉमस एडिसन की टीम यह प्रॉब्लम को सॉल्व करने में लगी थी लेकिन उनको सफलता नहीं मिल पा रही थी डीसी करंट के साथ दूसरी समस्या यह थी कि जिस क्षेत्र में उन्हें इलेक्ट्रिसिटी देना होता था वहां पर उन्हें बड़े-बड़े डीसी करंट इंजन लगाने पड़ते थे जो जगह की बहुत ज्यादा बर्बादी लेते थे और बहुत खर्चे दायक थे .

यह समस्या का हल निकोला टेस्ला जानते थे क्योंकि वह जिस मोटर पर काम करते थे वह एक AC करंट से चलती थी इसे Alternating current कहते हैं थॉमस अल्वा एडिसन के मैनेजर चार्ल्स बैचलर थे जो टेस्ला को अच्छे से जानते थे उन्होंने ही एडिशन को टेस्ला से मिलने का सुझाव दिया टेस्ला को अमेरिका बुलाया गया फिर टेस्ला थॉमस एडिसन के साथ काम करने लगे DC डायनामो में भी टेस्ला ने काफी सुधार किया टेस्ला को 24 अलग-अलग मशीनों को बनाने का भी काम दिया गया टेस्ला को मौका मिला एडिशन को AC मोटर के मॉडल को दिखाने का एडिशन को पहले से पता था टेस्ला के AC मोटर के बारे में परंतु एडिशन ने Nikola Tesla से यह कहा कि यह आईडिया बहुत बेकार है क्योंकि उन्हें डर था कि कहीं ऐसी मोटर की आने से उनके DC मोटर बंद ना हो जाए टेस्ला ने इसके बाद 6 महीनों तक एडिशन की कंपनी में काम किया और 24 मशीनों को ठीक भी किया जिसके लिए एडिशन ने उन्हें $50000 देने का वादा किया था परंतु बाद में एडमिशन मुकर गए और कहा कि मैंने मजाक किया था इसके बाद टेस्ला ने वह जॉब छोड़ दी .

Nikola Tesla के चौका देने वाले आविष्कार

जॉब छोड़ने के बाद Nikola Tesla  ने चौका देने वाले आविष्कार किए कुछ इन्वेस्टर से मिले और उनकी हेल्प से इलेक्ट्रिक लाइट एंड मैन्युफैक्चरिंग कंपनी की शुरुआत की परंतु इन्वेस्टर्स ने टेस्ला को धोखा दिया और उनकी कंपनी छोड़ दी कुछ वर्ष बाद अपने अच्छे मित्रों के साथ उन्होंने एक ऐसा मोटर बनाना जो एसी करंट पर चलती थी .

1888 में जब George westinghouse junior को इस बारे में पता चला कि टेस्ला में एसी इंडक्शन मोटर को बना लिया है तो वह उनसे मिले George westinghouse junior अमेरिका के एक बड़े उद्योगपति थे जोकि पेंसिलवेनिया में रहते थे George westinghouse junior को लगता था कि इलेक्ट्रिक डिसटीब्यूशन के लिए अल्टरनेटिंग करंट में अपार क्षमता है George westinghouse junior को निकोला टेस्ला के इंडक्शन मोटर की जरूरत थी उनके पावर सप्लाई के लिए .

George westinghouse junior ने टेस्ला की बहुत ज्यादा मदद की और ट्रांसफार्मर डिजाइन के लिए $60000 भी दिए निकोला टेस्ला ने देखते देखते बहुत बड़े-बड़े आविष्कार किए बाद में थॉमस अल्वा एडिसन को अपनी गलती का एहसास हुआ जब एडिशन को अपनी गलती पर एहसास हुआ तब तक निकोला टेस्ला का नाम जगत में छाया हुआ था निकोला टेस्ला ने अपने हुनर के दम पर पूरी दुनिया को एसी करंट का वरदान दिया.

About the author

Himanshu sonkar

Hello Dosto mera nam Himanshu Sonkar hai or mujhe online aap sab ko information dena bahut hi pasand hai mera post aap logo ke kam aay is Se Jyada Badi Baat aur kuch nahi .

Leave a Reply

%d bloggers like this: