ios and android |आईओएस और एंड्राइड कौन सा आपके लिए अच्छा है

ios and android by www.todaythinking.com

दोस्तों क्या आपको पता है ios and android इनमें से सबसे अच्छा कौन सा है जहां ios अर्थात Apple के Phone में या सिर्फ Premium apple device पे ही मिलते हैं और android जो low price के device से लेकर Premium device तक में use होते हैं तो आज हम जानेंगे इन दोनों में से कौन सा अच्छा है आपके लिए .

ios and android

IOS

जैसा कि हम जानते हैं ios and android मोबाइल टेबलेट इत्यादि device के लिए OS (operating system ) बनाते हैं लेकिन Apple company अपने ios के साथ इसका 70 % hardware भी बनता है इसलिए आपने अक्सर देखा होगा कि Apple के जो device होते हैं यह smoothly काम करते हैं क्योंकि इसके खुद का Hardware और Software दोनों ही होता है इसलिए इन दोनों की कमाल की tuning होती है.

android

android यह भी Apple की तरह मोबाइल टेबलेट के लिए ही operating system बनाती है लेकिन यह सिर्फ operating system ही बनाती है यह hardware पार्ट्स नहीं बनाती इसलिए आपको android के ऊपर run होते हुए Different -Different Company वाले phone मिल जाएंगे.

Difference Between iOS and Android

हम बहुत समय से देखते आ रहे हैं iphone का दबदबा मार्केट में बहुत ज्यादा बना रहा है, वहीं android phone के मामले में Samsung ,HTC, Sony जैसी बड़ी-बड़ी Companies भी पीछे नहीं हटी है वहीं Apple का नाम ही काफी है एक phone चलानेवाले के लिए और वही एंड्राइड अपने Features के मामले में ios को टक्कर देती है वही ios पर Based iphone जो बोलती है उसे करके दिखाती है चाहे best camera की बात हो चाहे वह best battery capacity की बात हो iphone जो ios पर Based है वह अपना बेस्ट ही देती है .

वही नजर डालें andrid की ओर तो आप 12 megapixel के android phone की photo और 12 megapixel camera वाले apple के phone में photo Click करके देखिए आपको फर्क स्पष्ट हो ही जाएगा और result में apple ही बाजी मार जाएगी कैमरा के मामले में लेकिन Samsung के कुछ फोन से apple को कड़ी टक्कर देते हैं हम बात करें सारे android phone की Battery की तो कुछ phone है जो हमें निराश करती है लेकिन कुछ phones बैटरी के मामले में शानदार है जो apple(ios) को टककर तो देती ही है लेकिन उससे आगे भी निकल जाती है.

जानते हैं ios and android किस मामले में आपके लिए अच्छा हो सकता है

एंड्राइड मार्केट में 23 SEPTEMBER 2008 को आया था, वहीं IOS 29 JULY 2007 को आया | उस time तो ios (iphone) का नाम बहुत ही ज्यादा चला पर android उभरकर मार्केट में ना आपया लेकिन हाल ही के दिनों में android का नाम बहुत ज्यादा ही चल रहा है क्योंकि ios(iphone) के दाम आसमान छूने लगे है और android phone आप को कम बजट में भी मिल जाएंगे जहां iphone(ios) बिस हजार रूपए से लाख रुपए तक जाते हैं वही android के phones तीन हजार से नब्बे हजार तक के रेंज में मिल जाएंगे.

वही iphone(ios) unix ऑपरेटिंग सिस्टम से बिलॉन्ग करती है, और android फोन Linux फैमिली से बिलॉन्ग करती है| चलिए जानते हैं कि Linux होता क्या है Linux वह Operating System है, जिसमें  Ubuntu ,Windows ,Surface and और android चलती है iphone(ios) के Developer Apple Company है, वहीं android के Developer Google जैसी बड़ी कंपनियां है iphone(ios) में हमें कम से कम भाषाएं देखने को मिलता है,  ios में सिर्फ 34 Languages देखने को मिलती है, वहीं दूसरी ओर android में हमें Languages देखने को मिलता है, android में 100+ Languages है.

 दोस्तों हम android mobile ज्यादातर use करते हैं पर आपको पता है कि जितना आसान android में file को share करना है उतना ही मुश्किल आपको ios पर मिलेगा आप जिस प्रकार अपने Laptop में USb के थ्रू Mobile Connect कर सकते हैं और आसानी से transfer files कर सकते हैं लेकिन ios में ऐसा नहीं है इसके लिए आपको third party software की जरूरत पड़ेगी.

IOS and Android operating system

Android operating system almost सभी कंपनियों के mobile  और Tablet में ज्यादा तर पाई जाती है, जैसे:-  Samsung, LG ,Sony, Mi और भी बहुत सारी companies वहीं दूसरी ओर ios वाली device IPhone ,iPad, Apple Watch ,apple TV में देखने को मिलेगी जैसा कि हम जानते हैं Apple अपना hardware and software दोनों ही बनाता है इसलिए सिर्फ ios operating system apple डिवाइस में ही आपको दिखेंगे.

IOS and Android processor

दोस्तों अगर हम बात करें Apple के नए processor A12 bionic के बारे में तो यह अब तक के सभी processor में से काफी फास्ट processor साबित होता है दोसा अगर बात करें android mobile में लगने वाले processor के बारे में तो वह Latest Qualcomm Snapdragon 850 है. दोस्त apple अपना अपना hardware पार्ट स्वयं बनाता है वहीं दूसरी ओर android सिस्टम में भी बहुत सारे processor है जो खुद की कंपनियां चलाती है जैसे – Samsung कि अपनी processor है जिसका नाम Exynos है.

इसमें अभी लेटेस्ट प्रोसेसर Exynos 9 series (9820) है वहीं Snapdragon एक प्रोसेसर कंपनी है जो इसके यह series है जैसे 2 series, 4 series, 6-7-8 series है, इनमें अभी सबसे लेटेस्ट प्रोसेसर Snapdragon 850 है वहीं दूसरी ओर MediaTech Company है, यह भी Android mobile के लिए processor बनाती है इसके भी आपको series देखने मिल जाएंगे X- series, P- series, A- series , इनमें अभी सबसे लेटेस्ट processor Helio P90 है .

IOS and Android में यह Application है

दोस्तों वर्तमान में Android users आपको ज्यादा मिलेंगे ios की अपेक्षा ,लेकिन कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि android के लिए ज्यादा app बनाए जाते हैं और ios के लिए कम लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है जितने भी बड़े-बड़े Application developer है वह इन दोनों Platform के लिए Application बनाते हैं जितने भी popular applications है जैसे – Whatsapp, Facebook Facebook Messenger, Snapchat, Instagram,Google Map, Google Chrome, Fire Fox, Skype, google duo और भी बहुत सारे कुछ ios application ,Android application के alternative हैं जैसे Google Chrome की जगह Safari दोस्तों Voice search करने के लिए हमें android सिस्टम में हमें google now, google Assistant का सपोर्ट मिलता है वही आईफोन में हमें siri का सपोर्ट मिलता है

जहा हम android app के लिए App Store का यूज करते हैं वहीं ios में applications download करने के लिए Apple App Store का यूज किया जाता है Google Play Store में हमें 1,000,000+ apps देखने को मिलती है , इंटरनेट में आप android app को कहीं से भी Download कर सकते हैं लेकिन ios में ऐसा नहीं है अगर आपको इसमें applications चाहिए तो सिर्फ आपको apple App store से Download करना होगा अगर हम बात करें नए system updates की तो हाल ही में 20 august को android mobile में android pie 9 का Update आया वहीं दूसरी ओर iphone (ios) में भी 17 September  को  IOS 12  का update आया है

storage के मामले में IOS and Android

IOS and Android में storage हमारे budget के हिसाब से हैं अगर हम high budget लेकर चलते हैं तो हमें ios में storage बढ़िया मिल जाता है लेकिन अगर हमारा budget लो है तो हमें storage के मामले में निराश होना पड़ेगा अगर हम बात करें Android की तो हमें कम budget में भी अच्छी खासी storage देखने को मिलेंगे और high budget में भी हमें android का storage निराश नहीं करती है अगर हम बात करें cloud storage की तो android में google की ओर से Google Drive में 15 GB Free मिलती है अगर हमें ज्यादा storage चाहिए तो उसके लिए कुछ Charges हमें देने पड़ते हैं , अब हम बात करें ios iphones में cloud storage की तो icloud के नाम से हमें 5GB storage Free मिलती है अगर हमें ios में ज्यादा cloud storage की जरूरत है तो इसके लिए हमें कुछ charges देने होंगे .

cloud storage के लिए बहुत सी कंपनियां हैं जो IOS and Android दोनों के लिए ही storage प्रोवाइड करती है जैसे Google, Amazon ,Dropbox, और भी बहुत सारे app  इन सब app में कुछ GB तक Free storage मिलती है उसके बाद हमें charges देने होंगे .

ios क्यों android से ज्यादा महंगा है

Apple के mobiles में कुछ मात्रा में gold का use किया जाता है जो उसके अंदर के Circuit में लगा होता है वह 18 Carat से लेकर के 24 Carat तक हो सकता है apple के phone पुराने होने पर भी अच्छे दाम में बिक जाते हैं लेकिन android phone में ऐसा बिल्कुल नहीं है apple के phone को दूर से ही हम पहचान सकते हैं क्योंकि उसका logo इतना ज्यादा famous हो गया है कि बच्चे से लेकर बूढ़े तक उसके logo को पहचान चुके हैं वहीं Android system को Particular एक company नहीं बल्कि बहुत सी Companies के device डाला जाता है इसलिए इन कंपनियों company के phone को पहचानना apple की तुलना में थोड़ा मुश्किल हो जाता है .

IOS Devices and Android Devices के Accessory availability

ios के Devices साल में एक से दो मॉडल का निर्माण करती है लेकिन अगर हम बात करें android की तो android बहुत सारे कंपनी में अपना os सेल करने के कारण साल में बहुत सारे Devices में android मिल जाते हैं android को छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी कंपनी लेती है और अपने Devices में डालती है जिसमें कुछ company अपना number 1 देती है और कुछ company अच्छा नहीं कर पाते इसके कारण कुछ Devices का नाम market में इतना Famous नहीं हो पाता.

जिसके कारण जो नामी कंपनियां है उस मॉडल के लिए तो accessories अवेलेबल हो जाती है लेकिन जो पॉपुलर नहीं हो पाते उन मॉडल के लिए accessories मिलना थोड़ा मुश्किल हो जाता है apple अपना Devices साल में एक-दो ही लॉन्च करता है जिसके कारण यह इतना famous हो जाता है कि इसके accessories के लिए हमें थोड़ा भागदौड़ करना पड़ जाता है लेकिन जहां android के accessories आपको कम दामों में मिल जाएंगे लेकिन apple(ios) के accessories के लिए आपको अच्छा खासा amount पे करना पड़ सकता है.

दोस्तों ऐसा नहीं है कि आप अगर android mobile चला रहे हो तो apple ios के mobile नहीं चला सकते या apple की mobile चला रहे हो तो android mobile नहीं चला सकते android और ios के कंपेयर को आपने ऊपर देखी लिया और फैसला आपके हाथ में है क्या आपको android फोन चलाना है या ios के iphones ! दोस्तों आप के रिक्वायरमेंट के हिसाब से आप अपना फोन use कर सकते हैं आपको कौन सा os (Operating System) चलानी है.

इसे भी जरूर पढ़ें –

>> जाने विंडोज क्या है और उसके कितने Version है | What is Microsoft Windows?

>> Windows और Mac में क्या अंतर होता है | Windows vs mac in hindi

About Todaythinking

Hello Dosto mera nam Himanshu Sonkar hai or mujhe online aap sab ko information dena bahut hi pasand hai mera post aap logo ke kam aay is Se Jyada Badi Baat aur kuch nahi .

View all posts by Todaythinking →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *