हमने और दुनिया के सबसे अमीर इंसान की कहानी में क्या फर्क है बिल गेट्स

हमने और दुनिया के सबसे अमीर इंसान की कहानी में क्या फर्क है बिल गेट्स

नमस्कार दोस्तों मैं आज आपको दुनिया के सबसे अमीर इंसान की कहानी बनाने वाला हूं वह इंसान है बिल गेट्स जो माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर है.

बिल गेट्स के पास आज वर्तमान स्थिति में 90 Billion US Dollars है यानी करीब 5 लाख 80 हजार करोड़ Indian Rupees है बिल गेट्स हर 1 मिनट में 1500000 रुपए कमाते हैं

और कहा जाता है कि अगर बिल गेट्स का खुद का अपना एक देश होता तो वह विश्व का 37 वा सबसे अमीर देश होता दोस्तों सफलता के इस मुकाम को पाने के लिए बिल गेट्स ने आज अपने जीवन में जो कुछ भी किया है उसे मैं आज आपको इस पोस्ट के माध्यम से विस्तार से बताने वाला हूं |

 28 अक्टूबर 1955 में Seattle, Washington, United State America बिल गेट्स का जन्म हुआ बिल गेट्स का पूरा नाम विलियम हेनरी गेट्स है बिल गेट्स के पिता का नाम विली विलियम हेनरी गेट्स सीनियर और उनकी माता का नाम मैरी मैक्सवेल गेट्स है जब बिल गेट्स बड़े हुए तो उनके माता-पिता ने उनका दाखिला Lakeside school में कराया बचपन से ही बिल गेट्स पढ़ाई लिखाई को लेकर बड़े इंटेलिजेंट थे उनमें पढ़ाई लिखाई को लेकर एक अलग ही भूख थी |

सन 1969 में बिल गेट्स ने अपना हाईस्कूल शुरू किया यह वह दौर था जब धरती से पहला Space Ship चांद में गया था और यह कंप्यूटर की सहायता से ही हुआ था सिएटल नाम के एक कंपनी ने बिल गेट्स के स्कूल को कुछ कंप्यूटर दान किए और उनसे कहा कि बच्चों को भी कंप्यूटर की शिक्षा दी जाए बिल गेट्स को तो बचपन से ही किसी भी चीज को जानने की इच्छा थी और इसके चलते उन्होंने अपना दाखिला कंप्यूटर क्लास में भी करवा लिया और जल्दी ही बिल की रुचि कंप्यूटर की ओर बढ़ने लगी उनको हमेशा यह जानने की इच्छा रहती कि आखिर या कंप्यूटर काम कैसे करता है और इसलिए वहां ज्यादा से ज्यादा computer क्लास में बिताते थे एक दिन कंप्यूटर क्लास के दौरान बिल की मुलाकात पौल एलेन से हुई |

पॉल एलन बिल से 2 साल बड़े थे पॉल एलन बड़े ही शर्मीले स्वभाव के थे लेकिन बिल इससे विपरीत थे लेकिन पॉल एलन और बिल के ख्यालात कंप्यूटर को लेकर मिलते जुलते थे इसलिए उनमें गहरी दोस्ती हो गई किसी को नहीं पता था कि यह दोनों मिलकर दुनिया बदलने वाले हैं |

1970

जब बिल गेट्स केवल 15 साल के थे तो बिल और पौल एलेन ने मिलकर एक कंप्यूटर बनाया जिसका नाम traf-o-data था  यह कंप्यूटर ट्रैफिक सिग्नल को मेंटेन करता था जिसे वहां के सरकार ने $20000 में खरीदा यह बिल गेट्स की पहली कमाई थी 

1972

जब बिल गेट्स 17 साल के थे तो उन्होंने पॉल एलन के साथ मिलकर एक कंपनी बनाने का फैसला किया यही से बिल गेट्स इलेक्ट्रॉनिक कंपनी की ओर जाना चाहते थे लेकिन बिल गेट्स के माता पिता उन्हें लॉ की पढ़ाई करवाना चाहते थे और उन्होंने कहा कि तुम पहले हाई स्कूल पास करो उसके बाद तुम लॉ की पढ़ाई करना बिल गेट्स ने अपने माता पिता का बात रखते हुए हाई स्कूल पास किया और उन्होंने अपने स्कूल में टॉप भी किया और जिससे साबित होता है कि बिल गेट्स कितने इंटेलिजेंट थे 

1973

बिल गेट्स ने हाई स्कूल पास कर अपने स्कूल में टॉप किया जिससे बिल गेट्स और उनके माता-पिता अधिक खुश हुए और बिल गेट्स के माता-पिता ने बिल का दाखिला हावर्ड यूनिवर्सिटी में करा दिया बिल ने अपने माता पिता का दिल रखने के लिए लॉ की पढ़ाई जारी रखी लेकिन बिल की तो रुचि कंप्यूटर की ओर थी इसलिए हावर्ड यूनिवर्सिटी में वह कंप्यूटर लैब में ही दिन रात रहते थे .

1974

इस साल जब बिल गेट्स अपनी कॉलेज की पढ़ाई कर रहे थे तो उनके मित्र को एक मैगजीन के जरिए ऑल t8 कंप्यूटर के बारे में पता चला जिसे दी रोबोट कंपनी बना रही थी या कंपनी ने उसका हार्डवेयर पार्ट बनाया था लेकिन इसे चलाने के लिए सॉफ्टवेयर पाठ बनाने के लिए किसी को ढूंढ रही थी तो तुरंत पॉल ने बिल से कांटेक्ट किया और वह दोनों यह कंपनी के लिए सॉफ्टवेयर बनाना स्टार्ट कर दिए हावर्ड यूनिवर्सिटी में कड़ी मेहनत करके 2 महीने यह सॉफ्टवेयर को बनाया और द रोबोट कंपनी के कंप्यूटर में या सॉफ्टवेयर बखूबी चलने लगा जिसके कारण उन्हें $50000 का इनाम दिया गया और बिल और पॉल एलन एक मशहूर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में उस समय प्रख्यात हो गया |

1975

पॉल एलन और बिल गेट्स ने इस वर्ष माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का निर्माण किया और देखते ही देखते माइक्रोसॉफ्ट कंपनी बहुत बड़ी कंपनी बन गई उस सदी के बिल गेट्स सबसे कम उम्र के सबसे धनवान व्यक्तियों में से एक में शामिल हो चुके थे |

कुछ वर्ष बाद आईबीएम के साथ मिलकर माइक्रोसॉफ्ट काम करने लगी यह सिलसिला 2 साल तक चलता रहा फिर आईबीएम ने अपना एक ऑपरेटिंग सिस्टम बनाया और माइक्रोसॉफ्ट के साथ काम करना बंद कर दिया इसके चलते माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 98 बनाया और माइक्रोसॉफ्ट का यह ऑपरेटिंग सिस्टम पूरी दुनिया में क्रांति ला दिया 37 साल की उम्र में बिल गेट्स ने अपने ऑफिस के कलीग मेलिंडा गेट्स से शादी कर लिया अब बिल गेट्स विश्व के सबसे धनवान व्यक्ति बन चुके हैं उनके दो लड़कियां और 1 लड़के हैं 

बिल गेट्स ने अपने संपत्ति का 10 मिलियन डॉलर अपने बच्चों को देने का फैसला किया है या उनके संपत्ति का सबसे छोटा हिस्सा साबित होता है बिल गेट्स चाहते हैं कि उनके बच्चे अपने पैरों पर खुद ही खड़े हैं बिल गेट्स ने बाद में मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन का नीव रखा जो दुनिया में लाचार परिवारों की मदद करता है |

इतनी दौलत जिस का अनुमान लगाना लगभग मुश्किल है तो बिल गेट्स चाहते थे कि यह किसी के बच्चों को नहीं जाना चाहिए यह लोगो से  आया हुआ पैसा लोगो को ही जाना चाहिए इसलिए उन्होंने मिलिंडा फाउंडेशन का निर्माण किया |

बिल गेट्स के द्वारा कही गई कुछ रोचक और महत्वपूर्ण बातें –

 

अगर आप गरीब पैदा हुए हैं तो यह आपकी गलती नहीं है लेकिन 

 आप गरीब ही मर जाए तो यह आपकी सबसे बड़ी गलती होगी .

 

अपने आप की तुलना किसी से मत करो यदि आप ऐसा 

   कर रहे हैं तो आप स्वयं की बेज्जती कर रहे हैं .

 

जब आपके हाथ में पैसा होता है तो केवल आप भूलते हैं कि 

आप कौन हैं लेकिन जब आप के हाथ खाली होते हैं तो 

 दुनिया भूल जाती है कि आप कौन हैं.

 

मैं कठिन काम को करने के लिए एक आलसी इंसान को खोजता हूं

 क्योंकि कठिन से कठिन काम को एक आलसी इंसान सरल करके रख देता है

 

दोस्तों आपको बिल गेट्स की कहानी कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताएं और अच्छी लगी तो शेयर भी कर दें धन्यवाद .

About Todaythinking

Hello Dosto mera nam Himanshu Sonkar hai or mujhe online aap sab ko information dena bahut hi pasand hai mera post aap logo ke kam aay is Se Jyada Badi Baat aur kuch nahi .

View all posts by Todaythinking →

One Comment on “हमने और दुनिया के सबसे अमीर इंसान की कहानी में क्या फर्क है बिल गेट्स”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *